REMEDIES‎ > ‎

Ketu * केतु

                                           
 
किसी भी ग्रह के उपाय करने से पूर्व हमें जानना चाहिए की वह ग्रह नैसर्गिक रूप से किस किस बातों का घोतक है? कुंडली में इसकी स्थिति क्या निर्दिष्ठ करती है?  यह सुनिश्चित करना होगा की कुंडली में ग्रह की स्थिति कैसी है? कमजोर है या बलिष्ठ ? फायदेमंद है या नुकसानदेय ? क्या जातक के जीवन अनुभव या उसकी मनोस्थिति से उस ग्रह के लक्षण दिखाई देते है?
 
ज्योतिषीक उपायों में - ग्रहों के सुचित रत्न को धारण करना,
ग्रहों के मंत्र के जाप,
ग्रहों की सूचित चीजों का दान व् ग्रहों के अधिष्ठाता देवता की स्तुति, उपासना व् अनुष्ठान करना मुख्य है.
अगर रत्न के चुनाव में गलती होती है तो नुकसान भी हो सकता है जब की देवता के स्तुति मंत्र जप व् अनुष्ठान से उलटा असर होने का खतरा नहीं होता. 
 
यहाँ ग्रहों के प्रतिकूल होने के लक्षण दिए गए है ताकि जिसे ज्योतिष का उचित ज्ञान नहीं है ऐसे व्यक्ति भी अपने अनुभव के आधार पर यहाँ दिए गए उपाय करके लाभान्वित हो सके.  
 
If you know astrology :
  
Have a look at your horoscope. If you have Ketu (Dragon's Tail) in following condition, you need to perform remedies :-
(1)  Ketu is considered functional malefic for all ascendents
 
(2)  If you are born with conjuntion of Ketu with the Moon.
(3)  if Ketu is placed in Mithun sign - its debilitated sign.
 
 
If you don't know astrology :
 
You need to check if following is true about you:-
(1)  You have heart ailments or high BP.
 
(2)  You adopt unlawful and immoral means of earning.
 
(3)  If your maternal relatives are in ruined state
 
(4)  If your father has bad eye sight
 
(5)  If your leadership gets challenged
 
(6)  If you live in a house facing south.
 
(7)  If you have uncultured hair-style
 
(8)  If you occassionaly have severe headaches. 
When to perform Ketu remedies?                 
 
Well, if you have identified the remedies for Ketu
on the basis of your horoscope, the best time for performing it would be during operation of Ketu dasha, antardasha, pratyantar or during its Gochar/Transit over the house signifying the problems you are experiencing. Every year around the date of your birth; the Ketu pass on the house in which it is placed in your birth chart.
For those who have identified the need on the basis of symptoms/problems they face in life, remedies for Ketu should be performed during
currency of problems.
 
Remedies for  Ketu                                            
(a) Observe good moral values and ethics.

(b) Respect Father, Government and other authorities.

(c) Shift your kitchen in Eastern part of the house.
 
(d) Recite Aaditya Hridayam. 
 
(e) Avoid over straining your eyes.
 
(f) Appreciate the self-esteem of your subordinates and peers.
 
(g) Learn and practise 'Surya Namaskar'
 
(h) Chant Surya Gayatri Mantra
 
अगर आप ज्योतिष जानते हो
 
अपनी कुंडली देखें| ऐसे हालत में केतु को दुरस्त करने की जरुरत है :-
 
 
 
 
 
 
 
 
अगर आप ज्योतिष नहीं जानते
 
अगर आप को ऐसे अनुभव हो रहे है तो जानिये की आपके लिए केतु का उपाय करना फायदेमंद हो सकता है.
 
प्रतिकुल केतु के लक्षण :-
 
-
-
-
-
उपाय :-
 
  
Comments