Nadi Dosha - Exceptions


                                                                 
In following conditions; 'Nadi Dosha' gets diluted and can be overlooked.
 
  1. When the boy and the girl are born under different Moon sign.
  2. When the boy and girl have same moon Rashi but the Nakshtras are different.
  3. If they fall under different class in 'ChaturPurva' Nadi classification.
  4. If they don't belong to the higher caste as per Hindu Caste System.
  5. If they have different biological constitution i.e. different Prakriti as per Ayurveda (Vaat, Pitta, Kapha)
  6. In the opinion of Jyotish Chintamani, these Nakschhtras are exempted from Nadi Dosha
Rohini, Mrigshira,Ardra,Jyestha, Kritika, Pushya, Shravana, Revati, Uttarbhadrapada
 
नाडी दोष जब नहीं लगता


अगर आपको ज्योतिषी ने बताया है की आप दोनों (पति-पत्नी)की कुंडली में नाडी दोष है तो आप को चाहिए की आप उसे पूछे की यह दोष अपवाद के आधार पर रद्द हो जाये ऐसी परिस्थिति आप की कुंडली में है की नहीं यह सुनिश्चित करें| आप अगर ज्योतिष समझ ते हो तो जानिए की निम्न परिस्थिति में नाडी दोष का भय नहीं रहता.

अगर आप दोनों की चंद्र राशि अलग अलग हो

 
राशि एक होते हुए भी अगर नक्षत्र अलग अलग हो
 
दोनों के नक्षत्र 'चतुर्पुरव' सारनी में भिन्न हो
 
ज्योतिष चिंतामणि के अनुसार रोहिणी, म्रिगशीर्ष, आद्र, ज्येष्ठ, कृतिका, पुष्य, श्रवण, रेवती, उत्तराभाद्र, नक्षत्रों को नाडी दोष लगता नहीं है|





अगर आपको उपरोक्त अपवाद का लाभ लागू नहीं होता फिर भी मेरी सलाह होगी की आप  किसी अच्छे आयुर्वेदिक डाक्टर से अपनी अपनी प्रकृति दोष के बारे में समझ प्राप्त करें | अपनी जीवन चर्या, स्वभाव व् आहार विहार को संयमित करने से गर्भ-धारण के अवरोधों को जरुर कम किया जा सकता है|